Better to Unfriend – Sushant’s story a lesson

Chaos
AMIDST

Video link 👉 https://youtu.be/RIZDIT1gi9

Sushant had no frnds bcz (as he said in his interview) …. Quality lovers can not get fit anywhere in bulk … सुशांत का घर किताबों से भरा था , ancient history , telescope और जीवन तत्वों में रुचि रखने वाले में झुंड बनाने की होड़ होती भी नहीं है । सुशांत अपने interview में खुद को boring कह रहे हैं … इनके प्रिय मित्रों ने ये शब्द उन्हें उपहार में दिया था और उन्होंने स्वीकार कर लिया था । अपने power को अपनी weakness समझ बैठे , क्योंकि दुनिया को ऐसा ढंग boring लगता है , उन्होंने दुनिया को खुश करने के लिए ये term accept कर लिया । उनके आखिरी के few months के insta posts में खुद को motivate करने की कोशिश दिखाती हुई posts , यादों को खंगालती हुई posts के बीच एक post उनके coding की भी थी … He had so many hobbies and passion one of that was this ” coding ” too .. he was trying to live them all as much as possible . ऐसे लोग जिनके पास करने को इतना कुछ है एकांत पसंद करते हैं । ऐसे में जो दोस्त और सहकर्मी आपको अपनी शर्तों पे अपने दल में शामिल करना चाहते हैं , उनके मन की ना होने पर वो जाने – अनजाने आपको तोड़ देते हैं । ये justification नहीं है आत्महत्या या depression के कारणों का बस सत्य है for the sake of awareness .. but at last we will have to take all the responsibility on our own … कभी भी हमने हमारा command किसी और हाथ में सौंपा तो ये अधूरापन कभी पूरा ना होगा । We need to learn to be our ALL .. 100% happiness within , 100% control within . Everything else like love, career, finance, family all should be add ons . He was on his way of ” within ” but but … He was trying but … We lost a gem … क्योंकि इस घटना को आत्महत्या बताया जा रहा था लेकिन हालात क़त्ल की तरफ इशारा कर रहे हैं , सबका दिल यही मानता है — ” सुशांत ने आत्महत्या नहीं की “। इस लेख का उद्देश्य दोस्ती , हालात और आत्मबल से जुड़ी घटना पर रौशनी डालना है।

— Madhuri Mishra

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *